Jalmarg-Paryavaran Mitra Yatayat

Dr. Narmadeshwar Prasad

ISBN No. 978-81-929633-8-9 Vol No.

INR 246.00

inclusive of all taxes

Quantity

In stock

आज जलमार्ग को किफायती व पर्यावरण मित्र परिवहन का साधन माना जाता है। इस दृष्टिकोण से इसकी प्रासंगिकता दिनोंदिन बढ़ती जा रही है। इसी परिप्रेक्ष्य में हिंदी माध्यम के पाठकों के लिए यह पुस्तक प्रस्तुत की गई है। इसमें जलमार्ग परिवहन के विभिन्न साधनों सहित भारत में आंतरिक जलमार्गों की स्थिति पर विशिष्ट आलेखों को संकलित किया गया है जो छात्रों के लिए अति उपयोगी हैं।

Product Details

  • Publisher: Iris Publication Pvt. Ltd.
  • Language: Hindi
  • Binding: Paperback
  • Year of Publication: 2018
  • Edition: 1st Edition
  • ISBN: 978-81-929633-8-9
  • No. of pages: 92